Tuesday, April 27, 2010

ब्राह्मण की समस्या और मेनेजमेंट का मंत्र

एक बार एक ब्राह्मण जिस का नाम सेवाराम था, बीरबल के पास गया और बोला मेरे पूर्वज प्रकांड पंडित और विद्वान् थे सभी लोग उन्हें पंडितजी बुलाते थे, मेरे पास पैसा नहीं है और ना ही मुझे इसकी चाहत है, पर मेरी एक ही इच्छा है, की लोग मुझे पंडित जी कह कर बुलाये। सेवाराम ने बीरबल से पूछा क्या ऐसा हो सकता है।
बीरबल मुस्कुराया और बोला यह तो बहुत आसान है, आज से जो भी तुम्हे पंडित जी बुलाये उसे तुम जोर से डाटो। वहा के बच्चे ब्राह्मण को पसंद नहीं करते थे क्योकि वह उन्हें डाटता था, बीरबल ने बच्चो से कहा सेवाराम को पंडित जी कहो तो वह चिडता है।
बस अब बच्चे उसे चिड़ाने के लिए पंडित जी बुलाते और बीरबल के कहे अनुसार ब्राह्मण उन्हें और जोर से डाटता।
बस फिर क्या था, धीरे धीरे ये नाम फैलता गया और लोग उसे पंडित जी बुलाने लगे। बाद में ब्राह्मण ने डाटना बंद कर दिया पर ये नाम उसके साथ ही चिपक गया।
मंत्र :
आप भी अफवाहों को आपके फायेदे के लिए भी इस्तेमाल कर सकते है, अफवाह फैलाने वाले कहानी के बच्चो की तरह हर जगह मौजूद है, आपके ऑफिस में, समाज में, हर जगह।
आप को पता होना चाहिए की कैसे उनसे फायदा उठाना है, देखिये कैसे फ़िल्मी हस्तिया या नेता, उनका इस्तेमाल हमेशा खबरों में रहने के लिए करते है.

2 comments:

PN Subramanian said...

बिलकुल पते की बात कही. आभार.

परमजीत सिँह बाली said...

सही बात कही है। बढिया प्रस्तुति।